DOI Prefix : 10.9780 | Journal DOI : 10.9780/22307850
Scroll to Top

Volume : III, Issue : XI, December - 2013

हजरत मुहम्मद की शिक्षाएँ : एक विंहगम दृष्टि

मनोज कुमार स्वामी

DOI : 10.9780/22307850, Published By : Laxmi Book Publication

Abstract :

नैतिक मूल्यों के अवतार हजरत मुहम्मद का व्यक्तिमत्व मानव जाति के इतिहास में अविस्मरणीय है | उन्होंने अपनी शिक्षायों और उपदेशों द्वारा समाज में आपसी भाई – चारे और सोहार्द्र की भावना स्थापित कर मानव इतिहास में एक नई आचार व्यवस्था , एक नई सांस्कृतिक व्यवस्था , एक नई सामाजिक व्यवस्था और राजनीतिक व्यवस्था बनाई | उनकी ये शिक्षाएँ आज भी उतनी ही प्रासंगिक है जितनी कि उनके अपने युग में थी | प्रस्तुत शोध आलेख मानवता की संयुक्त धरोहर इन शिक्षाओं पर एक विंहगम दृष्टि डालने का विनम्र प्रयास है |

Keywords :


Article :


Cite This Article :

मनोज कुमार स्वामी , (2013). हजरत मुहम्मद की शिक्षाएँ : एक विंहगम दृष्टि . Indian Streams Research Journal, Vol. III, Issue. XI, DOI : 10.9780/22307850, http://oldisrj.lbp.world/UploadedData/3386.pdf

References :

  1. तिर्मजी , अध्याय , हुसैन –उल-खुलाक, १/७२३
  2. अबू दाउद , किताब-उल-निकाह , २/१३५
  3. निसाई , किताब-उल-निकाह ,२/२७
  4. अबू दाउद , किताब-उल-आदाब , ३/६११
  5. बुखारी , किताब-उल-जिहाद ,२/५९

Article Post Production

Article Indexed In

Comments :

Enter Name :  
Email ID :  
Comments :  

Previous Comments :

Creative Commons License
Indian Streams Research Journal by Laxmi Book Publication is licensed under a Creative Commons Attribution 4.0 International License.
Based on a work at http://oldisrj.lbp.world/Default.aspx.
Permissions beyond the scope of this license may be available at http://oldisrj.lbp.world/Default.aspx
Copyright © 2014 Indian Streams Research Journal. All rights reserved
Looking for information? Browse our FAQs, tour our sitemap, or contact ISRJ
Read our Privacy Policy Statement and Plagairism Policy. Use of this site signifies your agreement to the Terms of Use